Join with usResearch JournalPublish your ResearchResearch Database
Website Visits: Web Counters
Vol.6, Issue 2

Vol.6, Issue 2

SHODH SANCHAYAN

 

Vol.6, Issue.2, 15 Jul, 2015

ISSN  2249 – 9180 (Online)

Bilingual (Hindi & English)
Half Yearly

Print & Online

Dedicated to interdisciplinary Research of Humanities & Social Science

An Open Access INTERNATIONALLY INDEXED REFEREED RESEARCH JOURNAL and a complete Periodical dedicated to Humanities & Social Science Research.

मानविकी एवं समाज विज्ञान के मौलिक एवं अंतरानुशासनात्मक शोध पर  केन्द्रित (हिंदी और अंग्रेजी)

If you don't have Walkman Chanakya on your computer, you will see junk characters, wherever article Text would be in Hindi. For downloading Hindi Fonts, you may please click on

http://www.shodh.net/media/hindifont.zip

Save the fonts files CHANAKBI.PFB, CHANAKBI.PFM, CHANAKBX.PFB, CHANAKBX.PFM, CHANAKIX.PFB, CHANAKIX.PFM, CHANAKYA.PFB, CHANAKYA.PFM, CHANAKYB.PFB, CHANAKYB.PFM, CHANAKYI.PFB and CHANAKYI.PFM into c:\windows\fonts directory.

Once the font is added to your system, you can see the text in Hindi using any browser like Netscape (ver 3 and above), Internet explorer etc.

(हिन्दी शोध आलेखों को पढ़ने के लिए इस वेब ठिकाने के Quick Links मेनू से हिन्दी फॉण्ट डाउनलोड करें और उसे अनजिप (unzip) कर अपने कंप्यूटर के कण्ट्रोल पैनल के फॉण्ट फोल्डर में चस्पा (Paste) करें.)

Index/अनुक्रम

 

भारत-नेपाल संबंध प्रचीन काल से ही जीवंत रहे हैं। भारत नेपाल के संबंध राजनीतिक से अधिक  सांस्कृतिक हैं । किन्तु दोनों देशो के पारस्परिक राजनैतिक संबंध में प्राचीन काल से लेकर आज तक किस प्रकार परिवर्तन आते रहे हैं और दोनों देशों के मध्य राजनीतिज्ञों की नीति एवं वैचारिक गतिशीलता किस प्रकार की भूमिका का  निर्वाह करती है इसके आलोक में प्रस्तुत शोध आलेख भारत-नेपाल संबंधों का विहंगम दृश्य प्रस्तुत करता है।

Game Theory is essentially a mathematical concept which has been widely used in social sciences to understand the behavior of individuals, companies and social groups. Game Theory is utilized to understand which foreign policy option offers the maximum gain for a particular country in a given situation. The case study of Nepal offers a unique opportunity to study how a smaller country stuck between two giant neighbors can maximize its gains via its foreign policy by using the tools of Game Theory. On the one hand Nepal is strategically, culturally and historically closer to India, on the other China has been making massive investments in the country. India is deeply perturbed by Chinese inroads in Nepal. Realist paradigm of International Relations theory is employed for understanding the compulsions behind the Nepal foreign policy in the historical context. This paper concludes that Political Economy perspective suggests that Nepal should first strive for political and economic stability. Only then Nepal can adopt a creative foreign policy. This paper also makes a suggestion that Nepal should align itself with India while taking full economic advantage of the prosperity of both its neighbors.

भारत एंव नेपाल धार्मिक दृष्टि से एकात्मक देश हैं। भारत और नेपाल के धार्मिक केन्द्र दोनों देशों के परस्पर मतावलम्बियों को आकर्षित करते रहे हैं। धार्मिक मान्यताएँ संस्कृत अभिलेख इस बात को प्रमाणित करते रहे हैं कि दोनो वर्तमान देश अत्यंत प्राचीन काल से आस्था एवं मान्यताओं में परस्पर अनुस्यूत हैं। इस शोध आलेख में संस्कृत के अभिलेखों के माध्यम से भारत एवं नेपाल की धार्मिक एकात्मकता एवं अखण्डता को अन्वेषित करने का प्रयास किया गया है।

Indo-Nepal relations  hove always been characterised in different Manners. Though Nepal is more close to India due to its geographical proximity and historical legacy and cultural affinity, yet its relation with India is hove Not been smooth due to various aspect of India Nepal relation This article is based on personal experiences and observations of contributor during his stay in Nepal  for the purpose of academic fild visit. This article explores the hypothesis  of cultural  diplomacy   of Indo - Nepal relation proposed by India’s P.M. Sri Narendra Modi.

भगवान रामचन्द्र  की कथा विश्व के कई देशों में न केवल प्रचलित हैं, वरन् इसके सन्दर्भ में विविध प्रकार के कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता रहा है। इन देशों में राम कथा से सम्बंधित विविध प्रकार के साहित्य भी उपलब्ध हैं। भारत के पड़ोसी देश नेपाल में भी राम कथा काफी लोकप्रिय है। प्रस्तुत शोध आलेख में नेपाली रामायण की लोकप्रियता उसकी कहानी, भाषा, काव्य सौन्दर्य आदि का विश्लेषण किया गया है।

नेपाल और भारत के विस्तृत तराई क्षेत्रा में फैले थारू जनजाति का संबंध् राजपूत वंश अथवा क्षत्रिय वंश से रहा है। प्रस्तुत शोध आलेख इन थारू लोगों का संबंध बौद्धों से उद्घाटित करते हुए महाराणा प्रताप से भी जोड़ता है। तथा ऐतिहासिक पुरातात्विक साक्ष्यों के आधर पर थारू जनजाति के विविध् सन्दर्भो पर प्रकाश डालता है।

भारत, नेपाल देशों के इतिहास पर नजर डालने पर कई प्रकार के ऐसे तथ्य मिलते हैं जिससे यह परिलक्षित होता है कि दोनों देश एक दूसरे से न केवल न केवल प्रचीन काल से अत्यन्त घनिष्ट रूप से जुड़े हुए थे वरन् दोनों जगह एक ही समाज दिखायी देता है और इनकी राजनीतिक सीमाएँ भी लुप्त हो जाती हैं। इसमें एक ही अखण्ड भारत या नेपाल की तस्वीर दिखती है। प्रस्तुत शोध लेख में भारत एवं नेपाल के सम्बन्ध एवं समीपता को ऐतिहासिक सन्दर्भ में देखा गया है।

नेपाल के हिन्दी एवं नेपाली भाषा में रचित भक्ति साहित्य भारत एवं नेपाल के बीच सांस्कृतिक सेतु की तरह है। इन दोनों देशों की भावधारा एक रही है, जिसके कारण भारत के हिन्दी भक्ति-साहित्य एवं नेपाली भक्ति साहित्य में अद्भुत साम्य है। यह शोध आलेख भक्ति साहित्य के आलोक में भारत नेपाल के संबंध को अन्वेषित करता है।

Nepal have the highest disease burden and where many of the MDGs seem to be beyond reach, it is now accepted that HRH is not only strategic capital but also the most important resource for the performance of the health system. Approximately two-thirds of the health problems in Nepal are infectious diseases. Epidemics occur frequently with a high rate of morbidity and mortality and there are occasional outbreaks of infectious diseases of unknown aetiology. The rapid rate of HIV infection in the Indian sub-continent is likely to add a new dimension of opportunistic infections. Insufficient resources available for preventive and promotive medicine and the occurrence of non-infectious diseases such as cancer and cardiovascular diseases has been increasing. International development partners are providing technical and financial support to work on elements and issues related to Heath Care Sector. This article explores the over all Health states of Nepal and this effect done by Nepal in this regard

सांस्कृतिक पृष्ठभूमि समान होने से भारत- नेपाल संबंध् मधुर रहे हैं। राजतंत्र की समाप्ति के बाद नेपाल की राजनैतिक दशा बदलने से इन संबंधों की दिशा- दशा बदली है। प्रस्तुत शोध आलेख इससे जुड़े तथ्यों को उद्घाटित करता है।

एक देश की आर्थिक परिस्थितियाँ अन्य देशों को प्रभावित करती हैं और इन्ही कारणों से अन्तराष्ट्रीय आर्थिक संबंधों का निर्माण होता है। दो पड़ोसी देशों के सामाजिक राजनैतिक संबंधों के कारणों में आर्थिक तत्त्वों का विशेष महत्व होता है। भारत और नेपाल के बीच आर्थिक गतिशीलता  के  लिए अनेक संधियां हुई हैं। इनके आलोक में प्रस्तुत आलेख में  भारत-नेपाल के बीच आर्थिक संक्रियाओं की गहन पड़ताल प्रस्तुत की गई है।

भारतीय संस्कृति में ‘दान’ को प्रमुख मूल्य के रूप में प्रतिष्ठा प्राप्त है। दान की परंपरा राजा एवं प्रजा, सभी के लिए श्रेय-प्रेय का साधन रहा है। भारत एवं नेपाल के शिलालेख से प्राप्त दान सम्बन्धी साक्ष्य हमें इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि प्राचीन भारतीय एवं नेपाल समाज समान रूप से  दान की परंपरा में विश्वास रखता है।

The rapid growth of communication technology and the availability of a varied number of communication media and their application have contributed substantially to improving the lives of people. Communication influences and shapes how people conduct their daily lives. In the field of health, substantial evidence shows that people want to know more about their health, they want to talk more about health to friends and family, hear about it through mass media, and discuss it with caring service providers. People are willing to change their health behavior, and  health communication programs are helping people make these changes. This paper describes various National and International reports which clearly shows the significant improvement of awareness about health services for Women, Natal & Prenatal care due to media programmes.

लोकतंत्र की स्थापना के लिए संघर्षरत नेपाल में अस्थिरता स्वाभाविक है। नेपाल की इस अस्थिरता का लाभ उठाकर विदेशी प्रेरित और समर्थित अंतर्राष्ट्रीय ताकतें अपने स्वार्थ साधना का शिकार बनाकर अबोध जनता का दुरुपयोग करती हैं। नक्सलवादी नेपाल में यही कर रहे हैं। इससे भारत नेपाल संबंध भी प्रभावित हो रहा है। यह शोध आलेख इस परिप्रेक्ष्य में नेपाल की राजनैतिक स्थितियों की विवेचना करता है और भारतीय सुरक्षा का नीतिगत विकल्प प्रस्तुत करता है।

आधुनिक नेपाल की स्थापना पृथ्वीनारायण शाह ने 1768 में की थी। उन्होंने नेपाल का सीमा विस्तार कर इसे अखण्ड स्वरूप प्रदान किया। कालान्तर में नेपाल में विभिन्न राजनैतिक परिर्वतन होते रहे हैं। यह शोध् आलेख इन परिवर्तनों का लेख-जोखा प्रस्तुत करते हुए नेपाल की पुनर्संरचना एवं स्थायित्व को भारत के हितों की सुरक्षा के लिये अनिवार्य सिद्ध  करता है।

भारत-नेपाल संबंधें के प्रमुख कारकों में एक है भारत-नेपाल सुरक्षा। भारत और चीन के बीच स्थित नेपाल एक बफर स्टेट है। नेपाल की भौगोलिक स्थिति भारत की सुरक्षा के लिए आश्वस्तिदायक है। भारत की अपने उत्तर स्थित पड़ोसी देश चीन से बढ़ते खतरे के कारण नेपाल  सीमा की संवेदनशीलता बढ़ जाती है। यह शोध आलेख भारत-नेपाल के सुरक्षा संबंधें के विविध् पक्ष पर प्रकाश डालता है।

Research Review

The Bhopal gas tragedy is one of the most terrible event in the history of India. This accident turned the city into a gas chamber. The shockwaves of the disaster were heard all over the world. It stunned the whole humanity on the planet. There are some documented works which may throw more light on dark sides of the tragedy. One of such works on Bhopal accident is 'Surviving Bhopal: Dancing Bodies, Written Texts and Oral testimonials of Women in the Wake of an Industrial Disaster” by Mukherjee S., published in 2010. This research paper, is analytical review of this book.

संगोष्ठी रिपोर्ट

नेपाल शोध अध्ययन केन्द्र, महाराणा प्रताप स्नातकोत्तर महाविद्यालय, जंगल धूसड़, गोरखपुर एवं इतिहास संकलन समिति द्वारा 14-15 फरवरी, 2015 को आयोजित (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा अनुदानित) राष्ट्रीय संगांष्ठी  का प्रतिवेदन

प्रस्तुति - सुबोध कुमार मिश्र

प्रस्तुति - शुभ्रांशु शेखर सिंह

प्रस्तुति - महेश कुमार शरण

प्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद्, भोपाल, विज्ञान भारती, मध्य प्रदेश तथा अटल बिहारी बाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय, भोपाल के संयुक्त तत्वावधान में 01 व 02 अगस्त, 2014 को ‘राष्ट्रीय हिन्दी विज्ञान सम्मेलन 2014’ का आयोजन

Research Feedback

Worldwide Readership/Download statistics of some hit articles published in

Shodh Sanchayan’s Electronic copy (Since last two Year)-


Display Num 
Powered by Phoca Download